45 दिन की लव स्टोरी, Top Hindi Love Stories 2021 - दोस्तों, कैसे हो आप सब ! आशा करता हूं कि सभी ठीक होंगे आज मैं फिर से आपके पढ़ने के लिए मात्र 45 दिन की लव स्टोरी के बारे में बताऊंगा। यह Top Hindi Love Stories आपको बहुत अच्छी लगेगी पूरी जरूर पढ़ना। यह 45 दिन की Top Hindi Love Stories एक ऐसे लड़के और लड़की है जो आपस में एक दूसरे से प्यार करते हैं लेकिन बातचीत नहीं कर पाते हैं।

इस स्टोरी में लड़के का नाम उधम है तथा लड़की का नाम सोनम है। उधम मेरा बहुत अच्छा दोस्त है और मैंने अपना बचपन इसी के साथ गुजारा है। हम दोनों ने साथ-साथ पढ़ाई की थी और एक साथ कमरे पर रहकर पढ़ाई करते थे। ‌यह स्टोरी उस समय की है जब हम दोनों पढ़ाई करने के लिए गांव छोड़कर शहर गए थे।

45 दिन की लव स्टोरी | Top Hindi Love Stories 2021 -


कुछ ही दिन पहले हमने हमारे गांव के एक व्यक्ति के मकान पर ही रहने के लिए किराए पर कमरा लिया था। तब हम दोनों वहां से साथ-साथ कोचिंग के लिए सुबह 7:00 बजे रवाना होते और 11:00 बजे वापस कमरे पर आ जाते थे। शनिवार के दिन मैं अपने जरूरी काम से काम आ गया था, लेकिन उधम वहीं पर रुक गया था।

सोमवार के दिन मैं सीधे कोचिंग के लिए पहुंच जाता हूं। वहीं पर उधम मेरा इंतजार कर रहा था। क्लास पूरी करने के बाद 11:00 बजे हम दोनों पैदल कमरे पर जा रहे थे। मैं पीछे मुड़कर देखता हूं तो एक लड़की स्कूटर लेकर हुए आती हुई दिखाई देती है। हम दोनों बातचीत करते हुए चले जा रहे थे तभी अचानक उस लड़की ने स्कूटर उधम के पैरों में घुसा दिया।

स्कूटर पैरों में आने की वजह से उधम रोड़ पर गिर गया और उसके पैरों में थोड़ी खरोच आ गई। मैंने उस लड़की के स्कूटर को खड़ा किया और उस लड़की को खरी-खोटी सुना रहा था। तभी अचानक उधम ने बोला - कोई बात नहीं शायद चलाना सीख रही है इसलिए स्कूटर पैरों में घुसा दिया।
तभी उस लड़की ने बोला - प्लीज मुझे माफ कर दो। मुझसे गलती हो गई।

थोड़ी देर बाद हम दोनों वहां से रवाना हो जाते हैं और वह लड़की भी स्कूटर लेकर चली जाती है। अगले दिन सुबह हम दोनों कोचिंग जा रहे थे। तभी एक लड़की रास्ते में उधम से पूछती है - कल आपको ज्यादा चोट तो नहीं थी। उधम कहता है - थोड़ी सी खरोच लगी है कोई बात नहीं है।
तभी मैं जवाब देता हूं - क्या कल स्कूटर चलाने वाली आप ही थी।
तब लड़की जवाब देती है - हां ! मैं ही स्कूटर चला रही थी। Top Hindi Love Stories

मेरे दोस्त उधम को उस लड़की के घर का पता था लेकिन इस बात की मुझे कोई जानकारी नहीं थी। रविवार का दिन था हम दोनों कमरे पर ही थे। तभी वह लड़की मुझे दिखाई देती है और मैं उधम से बोलता हूं - तुझे टक्कर मारने वाली लड़की सामने खड़ी है। ‌
उधम जवाब देता है - वह तो उस लड़की का ही घर है। तब मुझे पता चला था कि वह लड़की हमारे सामने वाले ही मकान में रहती है।

एक दिन हम दोनों मकान की छत पर टहल रहे थे तभी अचानक वह लड़की इशारा करते हुए दिखाई देती है। उसकी तरफ देखने के बाद मैं उधम बताता हूं कि वह लड़की हमारी ओर कुछ इशारा कर रही है। इसके बाद उधम भी उसकी तरफ इशारा कर देता है। धीरे-धीरे दोनों एक दूसरे के प्यार में खो जाते हैं। इस तरह से उन दोनों की प्रेम कहानी शुरू हो जाती है।

मैंने ऊपर पहले ही आपको बताया था बिना बोले 45 दिन की लव स्टोरी। इन दोनों की लव स्टोरी यहां से शुरू होती है। जब लड़की ने टक्कर मारी थी तब उससे कोई प्यार नहीं था, इसलिए उस समय हुई बातचीत को 45 दिन के अंदर नहीं लिया जा सकता है।

उधम ने रोजाना मकान की छत पर टहलने का एक समय बना लिया था। वह शाम को 1 घंटे तक लगातार मकान की छत पर टहलता रहता था उधर वह लड़की की मकान की छत पर टहलती रहती थी। दोनों अपने हाथों के इशारों से कभी एक दूसरे को किस भेजते तो कभी मिलने का इशारा करके बाजार में चले जाते थे। Hindi Love Stories

एक दिन मैंने उधम से पूछा - लड़की का नाम क्या है।
तब उसने बताया - सोनम। (Top Hindi Love Stories)
धीरे-धीरे दोनों का प्यार इशारों से ही गहरा होता जा रहा था। उधम ने पढ़ना-लिखना काफी कम कर दिया था जिसकी वजह से मुझे भी परेशानी हो रही थी। घर से बुलाने का बहाना लगाकर उधम को मैंने घर भेज दिया था। उसी दिन में कोचिंग से अकेला कमरे पर जा रहा था तभी वह लड़की मुझे रास्ते में रोक लेती है और उधम के बारे में पूछताछ करती हैं।

उधम के बारे में पूछने पर मैं लड़की को जवाब देता हूं - किसी काम की वजह से वह गांव गया है।
तभी सोनम मुझसे कहती है - वह आए तब उसे बता देना कि मैं उससे बहुत प्यार करती हूं और उससे मिलना चाहती हूं।
मैंने सोनम से कहा - मैं उसके आते ही उसे सारी बातें बता दूंगा।
तभी सोनम मुझे एक शादी का कार्ड देती है और दोनों को शादी में आने के लिए बोलती है। सोनम के द्वारा जो कार्ड दिया गया था वह उसकी बहन की शादी का था।

इसके बाद में वहां से कमरे के लिए रवाना हो जाता हूं और सोचता रहता हूं कि इस लड़की के प्यार की वजह से उधम की पढ़ाई पूरी तरह से बर्बाद हो रही है। मेरे पास एक एंड्राइड मोबाइल था मैंने उसमें उस कार्ड की एक फोटो खींची और उसे एडिट करने लग गया। शादी के कार्ड में मैंने उसकी बहन के नाम की जगह सोनम नाम लिख दिया। सोनम के द्वारा जो मुझे ओरिजिनल शादी का कार्ड दिया था उसको मैंने जला दिया। Top Hindi Love Stories

क्योंकि मुझे पता था उधम शादी में जरूर जाएगा और इन दोनों का प्यार और गहरा होता जाएगा। ‌अगले दिन उधम कमरे पर पहुंच जाता है और थोड़ी देर गांव की बातचीत करने के बाद मैं उस लड़की की बातें बताना लग जाता हूं।
लेकिन मैंने पूरी बातें गलत बता दी। मैंने कहा 4 फरवरी को सोनम की शादी है। शादी का कार्ड कोचिंग आते समय मुझे दिया था लेकिन मेरा एक दोस्त मुझसे किताब लेकर गया था जिसमें वह कार्ड भी चला गया।

मैंने उधम से कहा - उस कार्ड की एक फोटो मेरे मोबाइल में है उसको आप को दिखा सकता हूं।
तभी उधम ने कहा - दिखाना।
तभी मैं अपना मोबाइल निकालता हूं और उधम को एडिट किया हुआ शादी का कार्ड दिखा देता हूं। कार्ड को देखकर उधम काफी नाराज हो जाता है क्योंकि उसे पता नहीं था कि शादी उसकी बहन की है। Top Hindi Love Stories

फिर मैं भी कहां चुप रहने वाला था मैंने कहा - सब लड़कियां धोखेबाज होती है, कोई किसी से प्यार नहीं करती हैं। उधम बिल्कुल चुपचाप मेरे पास बैठा हुआ था। लेकिन मैं लगातार सोनम के बारे में बातचीत करके दोनों के बीच दूरियां पैदा करने की कोशिश कर रहा था। तभी अचानक उन्होंने कहा - तुम सही बोल रहे हो।
मैंने कहा शादी में जरूर चलेंगे आखिर सोनम ने कार्ड दिया है।

तभी उधम गुस्से से मेरी ओर देखता है और कहता है - दोनों में से शादी में कोई भी नहीं जाएगा हमें उस लड़की से कोई लेना देना नहीं है। इतनी बात सुनकर मैं मन ही मन काफी खुश होता हूं। फिर मैंने दिमाग लगाया शादी पूरी होने के बाद इन दोनों को हकीकत का पता जरूर लगेगा। हकीकत का पता लगने के बाद उधम मुझसे नाराज हो सकता हैं क्योंकि शादी सोनम की नहीं उसकी बहन की थी।

तभी मैंने उधम कहा - आज के बाद हम इस कमरे में नहीं रहेंगे। कहीं दूसरी जगह रहकर पढ़ाई करेंगे। इस बात को सुनकर उधम हां में जवाब देता है। मुझे डर था कि आज तक तो इन दोनों की इशारों में बातचीत हुई है लेकिन अगर सोनम शादी में बुलाने के लिए कमरे पर आ गई तो क्या होगा। इसलिए मैंने उधम से कहा - मुझसे तेरी गर्लफ्रेंड की शादी देखी नहीं जाती है। इस कारण आज हम दोनों मेरे दोस्त के कमरे पर चलेंगे। Top Hindi Love Stories

थोड़ी देर बाद हम दोनों वहां से निकलकर मेरे दोस्त के पास चले जाते हैं। वहां मैं अपने दोस्त से किराए से कमरा लेने की बात करता हूं। तभी मेरा दोस्त जवाब देता है - मैं कल गांव जा रहा हूं, आप दोनों इस कमरे में रह सकते है। मैंने कहा - ठीक है, लेकिन गांव जाने से पहले मेरे कमरे का सब पूरा सामान यहां शिफ्ट करवा देना।‌
तभी मैंने फिर से कहा - क्योंकि सोनम की शादी की वजह से उधम वहां नहीं जाएगा।

अगले दिन मैं और मेरा दोस्त उसकी बाइक लेकर कमरे पर पहुंच जाते हैं और अपना सामान इकट्ठा करके नए कमरे में शिफ्ट कर देते हैं। कुछ देर बाद मेरा दोस्त अपने गांव चला जाता है। इधर उधम सोनम की शादी को लेकर काफी सोच रहा था। मैंने कहा - अगर अच्छी तरह से पढ़ाई करके जॉब करेंगे तो उससे भी सुंदर लड़की से शादी करेंगे। अब तक इन दोनों के प्यार को लगभग 45 दिन ही हुए थे।

लगभग 15 दिन तक परेशान रहने के बाद उधम फिर से पढ़ाई करने लग गया और दोनों साथ-साथ कोचिंग जाने लग गए। इसके बाद उधम ने कभी भी किसी लड़की की तरफ आंख उठाकर नहीं देखा। लगातार 12 माह कोचिंग करने के बाद हम दोनों फिर से गांव आ जाते हैं और कुछ दिनों गांव रुक कर वापस चले जाते हैं। आज उधम विद्युत विभाग में जॉब करता है जबकि मैं बैंक मैनेजर के पद पर कार्यरत हूं। अब हम दोनों लगभग 3 महीने में एक ही बार मुलाकात कर पाते हैं। Top Hindi Love Stories

इस तरह से उधम की बिना बोले इशारों से ही मात्र 45 दिन की लव स्टोरी चली थी। अब आप सोच रहे होंगे कि सोनम तथा उधम की लव स्टोरी को मैंने तोड़ा है। लेकिन मैंने यह बिल्कुल सही किया था अगर उस दिन यह सब नहीं करता तो आज उधम विद्युत विभाग में जॉब नहीं करता। इसलिए दोस्तों पढ़ाई की उम्र में सिर्फ पढ़ाई ही करो।

अगर आपको यह 45 दिन की लव स्टोरी पसंद आई हो, तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें तथा हमें कमेंट करके बताएं कि आपको कैसी लगी है। इस प्रकार की और नई Top Hindi Love Stories, स्कूल तथा कॉलेज लव स्टोरी, वेस्ट हिंदी लव स्टोरी पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़ें रहें।

यह भी पढ़ें - मेरी अधूरी प्रेम कहानी - Best Hindi Love Stories | हिंदी लव स्टोरी

अंधा प्रेम - एक सच्ची प्रेम कहानी - हिंदी वर्ल्ड

Post a Comment

Previous Post Next Post