दोस्तों, आज मैं आपके लिए Best Hindi Love Stories लेकर आया हूं। मुझे आशा है कि आप सभी को यह Hindi Love Stories पसंद आएगी। आपको बता दूं Hindi Love Stories है, तो पढ़ना शुरू कीजिए Hindi Love Stories मेरी अधूरी प्रेम कहानी।

मेरी अधूरी प्रेम कहानी | Best Hindi Love Stories -


यह लव स्टोरी उस समय की है जब मैं शहर के एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ाई करता था। मेरे पिताजी बैंक मैनेजर थे और मेरी मां घर संभालती थी। हमारे परिवार में केवल चार ही सदस्य थे। मुझसे छोटी मेरी एक बहन थी, जो मेरे साथ ही पढ़ने जाती थी।

मेरा स्कूल का पहला दिन था। जब मैं स्कूल पहुंचता हूं तो सामने से एक लड़की आती हुई दिखाई देती है। वह लड़की स्कूल ड्रेस में होने के बावजूद भी बहुत ही सुंदर दिखाई दे रही थी। आंखों में काजल, होंठों पर थोड़े लाल रंग की लिपस्टिक लगाए हुए सामने से आ रही थी। मैं उसे देखते ही रह गया क्योंकि सुबह का समय था और सूर्य की किरणें उसके काले घुंघराले बालों पर पड़ रही थी तो बाल ऐसे चमक रहे थे जैसे सोने की परत चढ़ी हुई हो। Hindi Love Stories

वह लड़की मेरी बगल से निकल कर मेरी ही क्लास के अंदर चली जाती है। थोड़ी देर बाद मैं भी क्लास के अंदर चला जाता हूं। टीचर आने के बाद प्रजेंट होने लगती है तब मुझे पता चलता है कि उसका नाम मधु है। टीचर सामने पढ़ा रही थी लेकिन मेरा पूरा ध्यान सिर्फ मधु पर जा रहा था। मैं पूरी तरह से उसके ख्यालों में खोया हुआ था तभी अचानक टीचर मुझे खड़ा कर देती है और पढ़ाई गए सवाल के बारे में पूछती हैं।

मैं उस सवाल के बारे में टीचर से मना कर देता हूं कि मेरा ध्यान नहीं था। ध्यान नहीं होने की वजह से मैं टीचर से माफी मांग लेता हूं। टीचर पहली गलती समझकर मुझे बिठा देती है। थोड़ी देर बाद टीचर फिर से पढ़ाने लगती हैं लेकिन अबकी बार मैं सामने भी देख रहा था और कभी-कभी मधु की तरफ देख लेता था। Hindi Love Stories

अगले दिन उसी समय पर में स्कूल पहुंच जाता हूं और मधु के आने का इंतजार करता हूं। थोड़ी देर बाद मधु भी स्कूल पहुंच जाती हैं। मधु मेरे आगे-आगे चल रही थी और मैं मधु के पीछे उसे देखते हुए जा रहा था। सच कहूं तो मधु जितनी आगे से खूबसूरत दिख रही थी उस से 2 गुना ज्यादा तो उसकी कमर मुझे पागल बना रही थी। मधु क्लास के अंदर घुस जाती है और मैं भी पीछे वाले गेट से क्लास के अंदर चला जाता हूं। ‌

उस समय पूरी क्लास के अंदर सिर्फ हम दोनों ही थे। मधु अपनी टेबल पर बैठी हुई थी और मैं पीछे खड़ा होकर मधु को देख रहा था। लगातार 10 मिनट तक मधु को देखता रहा और सोच रहा था मधु जैसी गर्लफ्रेंड हो तो जीवन जीने का मजा ही कुछ और है। इतने में ही अचानक मधु मेरी और देखने लगती है तो मैं मधु के देखते ही वहां से निकल जाता हूं। ‌सभी स्टूडेंट के आ जाने के बाद में भी वापस क्लास में चला जाता हूं। Hindi Love Stories

मैं चुपचाप जाकर अपनी टेबल पर बैठ गया। आज मैं मधु की तरफ बिल्कुल भी नहीं दिख रहा था क्योंकि मधु ने मुझे पीछे से देखते हुए देख लिया था। कुछ देर रुकने के बाद मुझसे रहा नहीं गया और मैं एक बार मधु की ओर देखता हूं। मैंने देखा कि मधु पहले से ही मेरी तरफ देख रही थी। मैं चुपचाप नीचे गर्दन करके बैठा रहा। थोड़ी देर बैठा रहने के बाद मैंने सोचा मधु से बचने के लिए पीछे वाली टेबल पर बैठना जरूरी है।

मैं वहां से अपना बैग उठाकर पीछे वाली टेबल पर जाकर बैठ जाता हूं। अब मधु आगे वाली टेबल पर बैठी हुई थी। पीछे बैठने से मुझे यह फायदा हुआ की मैं मधु को आसानी से देख सकता हूं। तब क्या था रोजाना मधु को देखने के लिए पीछे वाली टेबल पर जाकर बैठने लग गया। टीचर सामने बोर्ड पर पढ़ाती थी और मैं लगातार मधु को देखता रहता था। Hindi Love Stories

कई दिन गुजर जाने के बाद लंच टाइम में मधु ने मुझे इशारे से बुलाया। मैं बिना सोचे समझे मधु के पास चला गया। तब मधु ने कहा - तुम पीछे वाली टेबल पर क्यों बैठते हो।
तभी अचानक मेरे मुंह से निकल गया - तुम्हें देखने के लिए।
इस पर मधु ने जवाब दिया - इतने दिन से लगातार देख रहे हो क्या अब तक तुम्हारा मन नहीं भरा है।
मैंने कहा - तुम जैसी लड़की को 24 घंटे लगातार देखने के बाद भी मन नहीं भरता है। Hindi Love Stories

इतना कहकर मैं वहां से चला जाता हूं। मधु मुझे देखते ही रह जाती है। अगले दिन जब मैं पीछे वाली टेबल पर बैठने लगा तो मधु ने मेरा बैग उठाकर उसके बगल वाली टेबल पर रख दिया। और बोली - आज से तुम यहां बैठेगो।
मैंने कुछ नहीं कहा और मधु के पास वाली टेबल पर जाकर बैठ गया। पास-पास बैठने की वजह से हम दोनों बातचीत करते रहते थे, जिसकी वजह से हमें कई बार प्रिंसिपल के पास जाना पड़ा।

एक दिन मैंने मधु को प्रपोज करने की सोचा और हिम्मत जुटाकर मधु के पास चला जाता हूं। मधु मेरे सामने स्कूल के कॉरिडोर मैं अकेली खड़ी हुई थी। मैं सीधे मधु से जाकर बोलता हूं - आई लव यू मधु !
इस पर मधु कोई जवाब नहीं देती है और वहां से चुपचाप चली जाती है। मैं दो-तीन दिन तक बिल्कुल चुप रहता हूं और मधु से दूर जाकर बैठने लग गए। Hindi Love Stories

तभी मधु मेरे पास आकर खड़ी हो जाती है और मुझसे सवाल करती है - तुम उस टेबल से उठकर क्यों आए हो।
मैंने मधु से कहा - शायद तुम मेरी कल वाली बात से नाराज हो गई हो इसलिए मैं वहां से उठ कर आ गया।
तब मधु ने मुझसे कहा - मैं तुम्हारे बारे में दो-तीन दिन तक सोचने के बाद अपना फैसला सुनाऊंगी।
तब मैंने कहा - इसमें सोचने की क्या बात है मैं जो भी हूं तुम्हारे सामने ही तो हूं।
मधु जवाब देती है - कुछ घर की परेशानी की वजह से सोचना जरूरी है और वहां से जाकर अपनी टेबल पर बैठ जाती है।

मैं भी थोड़ी देर बाद अपना बैग उठाकर मधु के पास वाली टेबल पर जाकर बैठ जाता हूं। मैं और मधु बातचीत करते रहते हैं और उसे अपने प्यार के बारे में जवाब देने के लिए 3 दिन का समय देता हूं। धीरे-धीरे 3 दिन गुजर गए और उस दिन मुझे मधु के जब आपका इंतजार था। काफी देर इंतजार करने के बाद मधु मुझे कहीं भी दिखाई नहीं देती है। मैं पूरी तरह से निराश होकर क्लास के अंदर जा बैठा।
Hindi Love Stories

तभी अचानक मधु क्लास के अंदर आती हैं और अपनी टेबल पर जाकर बैठ जाती हैं। मैं भी मधु के पास वाली टेबल पर ही बैठा था। थोड़ी देर बैठा रहने के बाद मैंने मधु से पूछा - क्या मैडम ! अब तो जवाब दे दो।
इस पर मधु अपने पैर से मेरे पैर की उंगली को दबा देती है। मैं समझ गया कि मधु भी मुझसे प्यार करती हैं। तब क्या था मैं भी बैठा हुआ मधु से शरारत करने लग गया।

लंच का समय हो गया सब लोग बाहर चले गए। जैसे ही मधु उठकर जाने लगे तो मैंने मधु का हाथ पकड़कर उसे रोक लिया। तभी मधु अचानक मेरा हाथ छुड़ाकर मुझे एक थप्पड़ जड़ देती है और कहती है - मैं तुमसे प्यार नहीं करती हूं। मैं पहले से ही किसी और से प्यार करती हूं और थोड़े दिनों बाद मेरी शादी होने वाली है। इतना कहने के बाद वहां से चली जाती है। Hindi Love Stories

मैं पूरी तरह से मायूस होकर क्लास के अंदर जाकर बैठ जाता हूं। मेरे अंदर जो प्यार का भूत सवार था वह पूरी तरह से उतर चुका था। मधु का प्यार नहीं मिलने की वजह से मैं स्कूल भी कम जाने लग गया और पढ़ाई भी कम करने लग गया। लगभग 1 महीने तक पूरी तरह से परेशान रहने के बाद मैंने सोचा मधु जैसी खूबसूरत लड़की कहीं ना कहीं जरूर मिलेगी। उसे भूलने की कोशिश करता रहता हूं। Hindi Love Stories

इधर मैंने स्कूल जाना छोड़ दिया था क्योंकि मुझे पता था अगर मैं स्कूल चला गया तो मुझे मधु दिखाई देगी और उसे देखते ही यादें ताजा हो जाएगी। मधु के प्यार को पाने के लिए मेरी पढ़ाई का 1 साल पूरी तरह से खराब हो गया। फिर मैंने सोचा जो किस्मत में नहीं था उसके लिए कैसा रोना। अगले वर्ष दूसरे स्कूल में प्रवेश ले लेता हूं और वहां पर अच्छी तरह से पढ़ाई करता हूं। इसके बाद मैंने कभी भी किसी लड़की को करीब से नहीं देखा।

दोस्तों, यह मेरी अधूरी प्रेम कहानी - Best Hindi Love Stories पसंद आई है, तो कमेंट करके जरूर बताएं और अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले। इस प्रकार के Hindi Love Stories, School Love Story, प्रेम कहानियां, College Love Stories आदि पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े रहे। ‌

यह भी पढ़े - ऑफिस वाली लव स्टोरी - Best Hindi Love Story | Love Story in Hindi

वैरी सैड लव स्टोरी इन हिंदी- very sad love story in hindi

Post a Comment

Previous Post Next Post