पड़ोसन वाली गर्लफ्रेंड - Very Sad Love Story In Hindi - एक दिन मैं सुबह जल्दी उठकर मकान की छत पर टहलने चला गया। तभी मेरी निगाहें पड़ोसन वाली लड़की पर पड़ गई। मैंने एक दिन अपनी मम्मी से सुना था कि हमारे पड़ोस में एक लड़की रहने आई है। मैंने पहली बार उस लड़की को देखा था वह मकान की छत पर कपड़े सुखाने आई थी। हाय-हेलो से हमारी पहली मुलाकात होती है।

पड़ोसन वाली गर्लफ्रेंड | Very Sad Love Story In Hindi -


अगले दिन मैं उस लड़की को देखने के लिए सुबह उठकर मकान की छत पर पहुंच गया। रोजाना की तरह लड़की आज भी अपने कपड़े सुखा रही थी। सबसे पहले मैं उस लड़की से उसका नाम पूछता हूं तब वह अपना नाम संजना बताती है। तभी वह लड़की मुझसे मेरा नाम पूछती है - आपका नाम क्या है?

मैंने कहा - मेरा नाम अभिषेक है और मैं बैंक मैनेजर के पद पर कार्यरत हूं।
इसके बाद मैंने उस लड़की से जॉब के बारे में पूछा तो उसने जवाब दिया अभी तो मैं पढ़ाई कर रही हूं।

इतनी बातचीत करने के बाद वह लड़की नीचे चली जाती है। पड़ोसन होने की वजह से वह लड़की कभी-कभी हमारे घर आती रहती थी। जिसके कारण हम दोनों एक दूसरे से घुल मिल चुके थे। धीरे-धीरे हम दोनों के बीच दोस्ती हो गई। मेरी छोटी बहन का जन्मदिन होने की वजह से एक दिन हमारे घर पर छोटा सा प्रोग्राम रखा गया था। मैंने जन्मदिन की पार्टी में शामिल होने के लिए संजना को आमंत्रित किया था। Sad Love Story In Hindi

शाम के लगभग 7:00 बजे मेरे कानों में आवाज आती है कि कोई दरवाजे की बेल बजा रहा है। तभी मैं सोफे से उठकर दरवाजा खोलता हूं तो मुझे संजना दिखाई देती है। संजना को देखकर मैं चकित रह गया वह एकदम परी लग रही थी। इससे पहले मैंने संजना को कभी भी इतने नजदीक से नहीं देखा था। मैं दरवाजे पर खड़ा ही रह गया तभी संजना कहती है - क्या देख रहे हो ! मुझे अंदर तो आने दो।

संजना की बातें सुनकर मैं दरवाजे से हट जाता हूं और वह अंदर चली आती है। मैं वापस सोफे पर जाकर बैठ जाता हूं और वहां से संजना को ही देख रहा था। तभी संजना की निगाहें मुझ पर पड़ जाती है तथा वह भी मेरी ओर देखने लग जाती है। थोड़ी देर बाद वह मुझे देख कर मुस्कुराने लगती हैं। मैं संजना की ओर इशारा कर रहा था तभी वह वहां से उठकर मेरी मां के पास किचन में चली जाती है। Sad Love Story In Hindi

कुछ समय बाद में भी पानी पीने का बहाना बनाकर किचन में चला जाता हूं और संजना से बात करने लगता हूं। तभी मेरी मां मुझसे कहती है - अभिषेक! संजना पहली बार हमारे घर आई है इसलिए तुम उसे ऊपर कमरे दिखा दो। थोड़ा सा पानी पीकर मैं वहां से संजना को लेकर कमरे दिखाने के लिए ऊपर चला जाता हूं। संजना ने सबसे पहले मेरे पिताजी का कमरा देखा और उसके बाद वह मेरी बहन के कमरे में चली गई।

थोड़ी देर वहां से निकल कर मेरे पास आकर बोली - आपका कमरा कौन सा है जनाब ?
मैंने कहा - चलो मेरा कमरा भी दिखाता हूं।
मैं आगे आगे चल रहा था और संजना मेरे पीछे आ रही थी, तभी अचानक किसी शार्ट सर्किट की वजह से हमारे घर की लाइट चली जाती है। मैंने इस मौके का फायदा उठाया और संजना के गाल पर किस कर लिया। संजना को इस बात का पता चल गया लेकिन मैं समझ नहीं पाई कि आखिर किस किसने किया था। Sad Love Stories In Hindi

क्योंकि मैं संजना को किस करने के बाद तुरंत नीचे चला गया और लाइट को चालू करने लग गया। लगभग 20 मिनट बाद वापस लाइट चालू कर देता हूं। इसके बाद मैं सीधा संजना के पास चला जाता हूं। संजना मेरे कमरे में बैठी हुई थी। मैंने संजना से कहा - अब मेरे पास आप को दिखाने के लिए कुछ भी नहीं बचा है। चलो अब नीचे चलते हैं। संजना ने कहा - थोड़ी देर इधर ही बैठकर बातचीत करते हैं। ‌

संजना ने मुझसे पूछा - आपने अभी तक शादी क्यों नहीं की है?
मैंने कहा - मुझे आज तक कोई भी लड़की पसंद नहीं आई।
संजना ने कहा - आपको किस प्रकार के जीवन साथी की तलाश है।
मैंने जवाब दिया - जो आपकी तरह सुशील तथा सुंदर दिखाई देती हो।
क्या मैं इतनी सुंदर दिखाई देती हूं - लड़की ने जवाब दिया।
आप तो बहुत सुंदर हो इसमें कहने की क्या बात है - मैंने जवाब दिया था। Sad Love Story In Hindi

इसके बाद हम दोनों नीचे चले आते हैं और मेरी छोटी बहन के जन्मदिन की पार्टी शुरू कर देते हैं। लगभग 1 घंटे बाद हमारा प्रोग्राम खत्म हो जाता है। खाना खाने के बाद मेरी मां मुझसे कहती है - अभिषेक! तुम संजना को घर तक छोड़ कर आना, अंधेरा होने की वजह से उसे डर लगता है। मैंने कहा - ठीक है मां जरूर।
थोड़ी देर बाद मैं संजना को उसके घर छोड़ने के लिए चला जाता हूं।

बातों ही बातों में हम दोनों संजना घर के पास पहुंच जाते हैं। तभी संजना मुझसे कहती है - आपने लाइट जाने के बाद मुझे किस किया था।
मैंने कहा - अंधेरे में कुछ दिखाई नहीं दे रहा था, इसलिए मैं आप से टकरा गया था। इतना कहने के बाद मैं वहां से अपने घर के लिए रवाना हो गया। तभी मैंने पीछे मुड़ कर देखा कि सपना दरवाजे से मेरी ओर देख रही थी। मैं चुपचाप घर आ गया और रात भर सोचता रहा कि संजना भी शायद मुझसे प्यार करती है। Sad Love Story In Hindi

अगले दिन में रविवार होने की वजह से देरी से उठा था। जिसकी वजह से मैंने संजना को छत पर देखने का मौका गंवा दिया था। अब मैं उसके छत पर आने का इंतजार करने लगा गया, क्योंकि वह अपने कपड़े उतारने के लिए शाम को छत पर जरूर आएगी। शाम के लगभग 5:00 बज चुके थे लेकिन अभी तक संजना छत पर नहीं आई थी। ‌मैं निराश होकर छत से नीचे जाने की सोच रहा था तभी संजना दिखाई देती है।

मैंने संजना को देख कर कहा - मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं लेकिन कहने की हिम्मत नहीं जुटा पाया था। अगर तुम भी मुझसे प्यार करती हो तो कल सुबह 7:00 बजे दरवाजे पर खड़ी मिलना। इतना कहने के बाद मैं चुपचाप नीचे चला आया। रात भर सोच रहा था कि संजना मुझसे प्यार करती है या नहीं। इसका पता सुबह जरूर चल जाएगा। मेरी पूरी रात उसके ही ख्यालों में निकल गई। Sad Love Story In Hindi

अगले दिन ऑफिस जाने के लिए मैं घर से 7:00 बजे निकल गया तभी मैंने देखा कि संजना दरवाजे पर खड़ी हुई थी। मैं चुपचाप वहां से निकल गया। अब मुझे पक्का यकीन हो गया था कि संजना भी मुझसे प्यार करती है। ऑफिस के समय में भी मैं संजना के बारे में ही सोचता रहता था। अब मुझे बस एक ही चिंता सता रही थी कि संजना से अकेले में मुलाकात करनी है।

लगभग 7 दिन बाद यानी रविवार के दिन मुझे वह मौका मिलता है। मेरे माता पिता और छोटी बहन कपड़े तथा घरेलू सामान खरीदने के लिए बाजार गए हुए थे। तभी मैं संजना को कॉल करके घर आने के लिए कहता हूं, लेकिन संजना घर आने के लिए मना कर देती है। मैं काफी गुस्सा हो जाता हूं और कॉल डिस्कनेक्ट कर देता हूं। इसके बाद संजना ने मुझे 10 मिस्ड कॉल दिए थे। लेकिन मैंने किसी भी प्रकार का कोई जवाब नहीं दिया। Sad Love Story In Hindi

जवाब नहीं देने की वजह से संजना को लगा कि मैं उससे नाराज हो गया हूं। थोड़ी देर बाद वह मुझे मैसेज करके बताती है की- मैं आपके दरवाजे पर खड़ी हुई हूं।
मैं झट से दरवाजा खोलता हूं और संजना को अंदर ले लेता हूं। संजना ने मुझसे कहा - तुम्हारे मम्मी पापा कहां गए हैं। मैंने कहा - किसी काम की वजह से बाजार गए हैं, शाम तक वापस लौटेंगे।
तभी संजना कहती है - अभिषेक ! तुम्हारे इरादे तो ठीक है ना?
मैंने कहा ऐसी कोई बात नहीं है। घर में किसी के ना होने की वजह से अकेलापन महसूस हो रहा था, इसलिए आपको बुलाया था।

हम दोनों वहां से उठकर मेरे कमरे में चले जाते हैं और वहां पर बातचीत करने लग जाते हैं। मैंने कहा - संजना ! मैं तुमसे ही शादी करूंगा।
मेरी बात सुनकर उसने मुझे किसी भी प्रकार का कोई जवाब नहीं दिया था। मैंने फिर से कहा - आप मेरी बात सुन रही हो या नहीं।
तब संजना ने जवाब दिया - जब तक मेरी जॉब नहीं लग जाती, तब तक मैं शादी नहीं करूंगी। Sad Love Story In Hindi

काफी देर बातचीत करने के बाद संजना अपने कमरे पर चली जाती है। इसके थोड़ी देर बाद ही मेरे माता-पिता घर पहुंच जाते हैं, लेकिन उन्हें संजना के आने का पता नहीं चल पाता है। धीरे-धीरे हम दोनों एक दूसरे के बहुत करीब आ गए थे। मैं अपने दिल की सारी बातें संजना को शेयर करता था और वह भी मुझसे सारी बातें शेयर करती रहती थी। मैं संजना से बहुत प्यार करता हूं और उससे ही शादी करना चाहता था।

लेकिन एक दिन संजना अचानक अपने गांव चली गई मुझे इस बात का पता तब चला जब मैं ऑफिस से अपने घर पहुंचा था। घर पहुंचने के बाद मुझे मेरी मां ने बताया था कि संजना किसी को बिना कुछ बताए अपने गांव चली गई है। सारी बातें सुनने के बाद मैं अपने कमरे में चले जाता हूं और अपनी जेब से मोबाइल निकाल कर संजना को कॉल लगाता हूं। लेकिन उसका मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा था। ‌फिर भी मैंने सोचा किसी काम की वजह से गांव गई है, दो-चार दिन में वापस आ जाएगी। Sad Love Story In Hindi

लगभग 2 माह बीत चुका था। इन दो महीनों में मुझे एक भी दिन संजना ने कॉल नहीं किया और मैंने उसको कॉल किया था। तब उसका मोबाइल स्विच ऑफ ही आ रहा था। मैंने आसपास के लोगों तथा उसकी कोचिंग क्लासेज से उसके गांव के बारे में जानने की कोशिश की लेकिन किसी भी प्रकार की कोई जानकारी हासिल नहीं हो पाई। मैं पूरी तरह से निराश हो गया था। ऑफिस के समय में भी मेरा दिमाग पूरी तरह से संजना के बारे में ही सोचता रहता था।

एक दिन मैं किसी काम की वजह से ग्रामीण क्षेत्र दूसरे बैंक में गया था। तभी मुझे अचानक उस गांव में संजना जैसी लड़की दिखाई देती है। मैं अपनी गाड़ी रोक देता हूं और उस लड़की को गौर से देखने लग जाता हूं। काफी देर देखते रहने के बाद पता चला कि वह संजना ही है। उसके पास दो बच्चे खेल रहे थे। मैं अपनी गाड़ी स्टार्ट कर के वहां से चुपचाप चला जाता हूं और आगे जाकर एक दुकान पर गाड़ी रोक देता हूं। Sad Love Story In Hindi

उस दुकान पर‌ जाकर संजना के बारे में जानने की कोशिश करता हूं। तब मुझे पता चलता है कि संजना के दो बेटे हैं तथा उनका पति प्राइवेट कंपनी में जॉब करता है। इतना सुनने के बाद मैं पूरी तरह से टूट चुका था क्योंकि मैं आज भी उसके आने का इंतजार कर रहा था। लेकिन मुझे पता नहीं था कि उसने मुझे बिना बताए शादी करली थी। आज भी उसका प्यार मुझे बहुत दर्द देता है। जब भी मैं पहले की बातें याद करता हूं तो मेरी आंखों से आंसू निकल आते हैं।

मुझे पता नहीं था कि एक दिन ऐसा आएगा जो मेरे जीवन को झकझोर कर रख देगा। आज भी उसके जाने का गम मुझे दिन-रात सताते रहता है। संजना के जाने के बाद मैंने आज तक शादी नहीं की और उसके प्यार के सहारे ही जीवन के 28 साल निकल गए। जब भी मैं संजना की बातें याद करता हूं तो मुझे रात भर नींद नहीं आती है और उसके बारे में ही सोचता रहता हूं। Sad Love Story In Hindi

दोस्तों, अगर आपको यह Sad Love Story In Hindi थोड़ी बहुत भी पसंद आई हो, तो कमेंट करके जरूर बताएं तथा अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले। इस प्रकार की नई School Sad Love Story, Sad Love Story In Hindi, Collage Love Stories, Hindi Stories पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े रहे।

Also Read - एक बेवफा की लव स्टोरी – Bewafa Love Story in Hindi 2021

Sad Love Story in Hindi: एक दर्दभरी कहानी

Post a Comment

Previous Post Next Post